खबर

*यूपी विधानसभा को उड़ाने की बड़ी साजिश, सदन के भीतर मिला विस्फोटक*

                                                        【Times7news】

                                                                  14/07/2017
*लखनऊ:* उत्तर प्रदेश विधानसभा में विस्फोटक मिलने से हड़कंप मच गया है। जानकारी के अनुसार यह पीईटीएन विस्फोटक है, जिसे मेटल डिटेक्टर भी नहीं पकड़ पाता है। घटना के सामने आते ही विधानसभा की सुरक्षा पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर कैसे यह विस्फोटक विधानसभा के भीतर पहुंचा। फॉरेंसिक जांच में इस बात की पुष्टि हुई है कि यह विस्फोटक ही है।
*up assembly सपा विधायक की सीट के नीचे मिला विस्फोटक*
जानकारी के अनुसार यह विस्फोटक 12 जुलाई को विधानसभा के भीतर पाया गया है। खबरों के मुताबिक यह विस्फोटक समाजवादी पार्टी के विधायक की सीट के नीचे पाया गया है।जानकारी के सामने आने के बाद ही विधानसभा की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और विधानसभा की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मी इस बात की छानबीन कर रहे हैं कि आखिर कैसे यह विस्फोटक विधानसभा के भीतर पहुंचा
*मुख्यमंत्री ने बुलाई बैठक*
इस घटना के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा अधिकारियों के साथ बैठक बुलाई है, जिसमें वह तमाम तथ्यों पर चर्चा करेंगे कि आखिर कैसे यह विस्फोटक सदन के भीतर पहुंचा। यह बैठक 10.30 बजे बुलाई गई है, जिसमें तमाम सुरक्षा के आला अधिकारी मौजूद होंगे। यहां आपको हम बता दें कि विधानसभा के भीतर का सीसीटीवी कैमरा सुबह 9 बजे के बाद ही चलता है, लिहाजा अगर यह विस्फोटक इस समय से पहले रखा गया है तो इसे पकड़ पाना सुरक्षाकर्मियों के लिए मुश्किल है। विधानसभा के भीतर तमाम सीसीटीवी कैमरे की फुटेज तलाशने के बाद यह नहीं पता चल पाया है कि आखिर कौन यह विस्फोटक विधानसभा के भीतर लेकर आया।
*काफी भयावह है यह पीईटीएन विस्फोटक*
गौरतलब है जो विस्फोटक विधानसभा मे पाया गया है वह काफी खतरनाक होता है, इसका इस्तेमाल दिल्ली हाई कोर्ट के भीतर धमाके में इस्तेमाल किया गया था। इस विस्फोटक में किसी भी तरह के मेटल नहीं होने की वजह से इसे पकड़ पाना बहुत मुश्किल होता है। यहां तक कि इसे डॉग स्क्वॉड भी सूंघकर नहीं पहचान पाता है। इस लिहाज से यह विस्फोटक काफी खतरनाक होता है। यह विस्फोटक केमिकल रिएक्शन की तरह से धमाका करता है, लिहाजा अगर विस्फोट होता तो यह काफी भयावह हो सकता था।डिटोनेटर नहीं मिला है
हालांकि सुरक्षाकर्मियों को विधानसभा के भीतर किसी भी तरह का डिटोनेटर नहीं मिला है। माना जा रहा है कि अगर सदन के भीतर डिटोनेटर पहुंच जाता तो बड़ा धमाका किया जा सकता था। विधानसभा में 403 विधायक हैं, ऐसे में इस घटना के बाद प्रशासनिक अमला काफी सतर्क हो गया है।
                                                  
                                      *सुरक्षा बैठक में सदन में बोले सीएम यूपी योगी आदित्यनाथ*



सुरक्षा हमारी सामूहिक जिम्मेदारी ,यह एक गम्भीर प्रकरण है 150 ग्राम के करीब बरामद हुआ विस्फोटक – सीएम योगी मामले की जांच NIA से करवाई जाए -सीएम यूपी सदन की सुरक्षा को लेकर नई गाइड लाइन बनाई जाए 2 स्पेशल बटालियन बनाई जाए सदन में आने वाले सभी व्यक्तियों को जांच कर ही प्रवेश दिया जाए -सीएम
*Mla एक डायरी ओर पेन के अलावा कुछ न लाये – सीएम योगी*
* विधान भवन प्रवेश के लिए जारी किए गए पहले के सभी पास निरस्त होंगे – विधान सभा अध्यक्ष*
नए सिरे से विरेफिकेशन कर पास जारी करने का प्रस्ताव विधान सभा अध्यक्ष ने विधान सभा की सुरक्षा को लेकर नए प्रस्तावों को सदन में रखकर सदस्यों से मांगी सहमति
बरामद विस्फोटक की 500 ग्राम की मात्रा से उड़ाई जा सकती थी पूरी विधान सभा* यह एक आतंकी साजिश साजिश करने वालो को जांच कर बेनकाब किया जाएगा -सीएम योगी

*यूपी विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद संसद भवन में स्पेशल टीम कर रही है सुरक्षा जांच*
उत्तर प्रदेश विधानसभा में विस्फोटक मिलने की घटना के बाद अब दिल्ली में ससंद भवन के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में भी सुरक्षा जांच शुरु कर दी है. ये जांच एक स्पेशल टीम कर रही है. जांच में सात खोजी कुत्तों को भी लगाया गया है. बता दें कि यूपी विधानसभा में आज पीईटीएन नाम का विस्फोटक मिला।
*जो स्पेशल टीम संसद भवन की जांच कर रही है*
उसमें 20 से 22 लोग हैं. ये टीम मेटल डिटेक्टर और सात खोजी कुत्तों सहित तमाम ऐसे डिवाइस लेकर संसद भवन की जांच कर रही है जो किसी विस्फोटक की जांच करने में सक्षम है।
राज्यसभा और लोकसभा के अलावा केंद्रीय कक्ष की सीटों के नीचे भी तलाशी ली जा रही है. हालांकि हर दिन एक सुरक्षा टीम संसद भवन की सुरक्षा की जांच करती है. लेकिन आज जिस तरह से यूपी विधानसक्षा में विस्फोटक मिला है उसके बाद देश भर में सुरक्षा एजेंसिया सतर्क हो गई हैं।
*12 जुलाई को मिला था विधानसभा में विस्फोटक*
बता दें कि दो दिन पहले 12 जुलाई की सुबह यूपी विधानसभा के अंदर विस्फोटक मिलने का खुलासा हुआ है। फौरेंसिक जांच मे विस्फोटक मिलने की पुष्टि हुई है। हालांकि डेटोनेटर नहीं मिला है यह विस्फोटक 150 ग्राम की मात्रा में मिला है।
*12 जुलाई की सुबह*: यूपी विधानसभा के अंदर विस्फोटक मिला. ये उस जगह पर रखा था जहां तमाम पार्टियों के विधायक बैठते हैं। ये विस्फोटक समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पांडे की सीट के नीचे मिला है. मनोज ने सीएम योगी से विधानसभा की सुरक्षा और कड़ी करने की मांग की है।
*क्या है पीईटीएन?*
पीईटीएन बहुत शक्तिशाली प्लास्टिक विस्फोटक होता है। यह गंधहीन होता है इसलिए इसे पकड़ने में काफी मुश्किल आती हैं। खोजी कुत्ते और मेटल डिटेक्टर भी इसका पता नहीं लगा सकते बहुत कम मात्रा में होने पर भी पीईटीएन से बड़ा धमाका हो सकता है। इसका सेना और खनन उघोग में भी इस्तेमाल किया जाता है वह भी विशिष्ट और खास तरह के मामलों में ही पीईटीएन का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे हालात में विधानसभा तक पीईटीएन पहुंचना एक बड़ा सवाल है।
बड़ी बात यह है कि यह कोई मेटल यानी धातु नहीं होता इसलिए एक्स-रे मशीन भी इसे नहीं पकड़ पाती. यह एक रासायनिक पदार्थ होता है वर्ष 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर हुए धमाके में भी पीईटीएन का इस्तेमाल किया गया था।
                                                                                                                                                 TIMES7NEWS

50% LikesVS
50% Dislikes

Shushil Nigam

Times 7 News is the emerging news channel of Uttar Pradesh, which is providing continuous service from last 7 years. UP's fast Growing Online Web News Portal. Available on YouTube & Facebook.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button